UPCPMT 2014 Eligibility (यू.पी.सी.पी.एम.टी. अर्हताएं)

अर्हताएं(Eligibility)

अभ्यर्थी को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना आवश्यक है। उत्तर प्रदेश के मूल निवासी की परिभाषा मद संख्या 11 में प्रमाण पत्र-1 की टिप्पणी में दी गयी है। जिन अभ्यर्थियों ने हार्इस्कूल एवं इन्टरमीडिएट अथवा समकक्ष दोनों परीक्षाऐं उ.प्र. से उत्तीर्ण की हो, उन्हें उ.प्र. में निवास का प्रमाण पत्र आवश्यक नहीं होगा। यदि किसी अभ्यर्थी द्वारा हार्इस्कूल एवं इन्टरमीडिएट अथवा समकक्ष दोनों, अथवा इन दो में से एक भी परीक्षा उत्तर प्रदेश राज्य के बाहर से उत्तीर्ण की हो तो उन्हें उ.प्र. के मूल निवासी होने का प्रमाण पत्र लाना आवश्यक होगा।

आयु सीमा प्रवेश परीक्षा में बैठने के लिए अभ्यर्थी का जन्म 31 दिसंबर 1997 को या उसके पूर्व हुआ हो। आयु के सम्बन्ध में कोर्इ शिथिलता नहीं बरती जायेगी।

शैक्षिक अर्हता 

  • अभ्यर्थी को किसी भारतीय बोर्ड या अन्य मान्यता प्राप्त शिक्षण परीक्षण संस्थान द्वारा संचालित इंटरमीडिएट (विज्ञान) या समकक्ष परीक्षा में भौतिकविज्ञान, रसायनविज्ञान, जीवविज्ञान (जिसमें प्रयोगात्मक परीक्षा भी शामिल होगी) तथा अंग्रेजी विषय सहित उत्तीर्ण होना आवश्यक है। एम.बी.बी.एस. तथा बी.डी.एस. पाठयक्रम में प्रवेश हेतु मेडिकल काउंसिल आफॅ इंडिया डेण्टल काउंसिल आफॅ इंडिया द्वारा निर्धारित अर्हताएं मान्य होंगी, जो कि निम्नवत है:-
    (A) The Higher Secondary Examination or the Indian School Certificate Examination which is equivalent to 10+2 higher secondary examination after a period of 12 years study, the last two years of study comprising of Physics, Chemistry, Biology and Mathematics or any other elective subject with English at a level not less than the core course for English as prescribed by the National Council of Educational Research & Training after the introduction of the 10+2+3 years educational structure as recommended by the National Committee on Education; Note: Where the course contents is not as prescribed for 10+2 education structure of the National Committee, the candidates will have to undergo a period of one year pre- professional training before admission to the Medical/ Dental/Ayurvedic/Homoeopathic/Unani College:
    OR
    (B) The Intermediate examination in science of an Indian University, Board or other recognized examination body with Physics, Chemistry and Biology which shall include a practical test in these subjects and also English as a compulsory subject.
    OR
    (C) The pre-professional/pre-medical examination with Physics, Chemistry and Biology, after passing either the higher secondary school examination or the pre-university of an equivalent examination shall include a practical test in Physics, Chemistry and Biology and also English as a compulsory subject:
    OR
    (D) The first year of the three years degree course of a recognized university, with Physics, Chemistry and Biology including a practical test in these subjects provided the examination is a “University Examination” and candidate has passed 10+2 with English at a level not less than a core course.
    OR
    (E) B.Sc. examination of an Indian University, provided that he/she has passed the B.Sc. examination with not less than two of the following subjects in Physics, Chemistry, Biology (Botany, Zoology) and further that he/she has passed the earlier qualifying examination with the following subjects- Physics, Chemistry, Biology and English.
    OR
    (F) Any other examination which, in scope and standard is found to be equivalent to the intermediate science examination of an Indian University/Board taking Physics, Chemistry and Biology including a practical test in each of these subjects and English.
  • संपूर्णानंद संस्कृत  वाराणसी से विज्ञान विषय सहित मध्यमा परीक्षा उत्तीर्ण अभ्यर्थी केवल बी.ए.एम.एस. पाठयक्रम में प्रवेश हेतु परीक्षा में सम्मलित हो सकते हैं।
  • बी.यू.एम.एस. पाठयक्रम के अभ्यर्थियों को उपर्युक्त अर्हता (3) के अतिरिक्त कक्षा 10 के समकक्ष उर्दू विषय की परीक्षा में भी उत्तीर्ण होना आवश्यक होगा।
  • प्रवेश परीक्षा में सम्मलित होने के लिए उन सभी अभ्यर्थियों को अनुमति प्रदान कर दी जायेगी जो अर्हकारी परीक्षा में सम्मलित हो रहे हों। अर्हकारी परीक्षा उत्तीर्ण होने का प्रमाण-पत्र अथवा अंक तालिका काउंसिलिंग के समय प्रस्तुत करना होगा। अर्हकारी परीक्षा उत्तीर्ण करने का प्रमाण-पत्र अथवा अंक तालिका काउंसिलिंग के समय न प्रस्तुत करने की दशा में आवंटन नहीं किया जायेगा।
  • एम.बी.बी.एस. तथा बी.डी.एस. पाठयक्रमों के लिए अनारक्षित अभ्यर्थियों को अर्हता परीक्षा में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान तथा जीव विज्ञान विषयों में औसत 50 प्रतिशत अंक प्राप्त करना आवश्यक है, इसके साथ ही सी.पी.एम.टी. में 50 प्रतिशत अंक भी प्राप्त करने अनिवार्य हैं। विकलांग उपश्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए दोनों मानक 50 प्रतिशत के स्थान पर 45 प्रतिशत होंगे। [MCI letter no. MCI-34(1) (GEN/2009-Med-2569) Dated 21.04.2009] अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति तथा अन्य पिछड़ा वर्ग श्रेणी के विधार्थियों के लिए दोनों मानक 50 प्रतिशत के स्थान पर 40 प्रतिशत होंगे।
  • बी.एच.एम.एस., बी.ए.एम.एस. तथा बी.यू.एम.एस. पाठयक्रमों हेतु सी.पी.एम.टी. परीक्षा में न्यूनतम 35 प्रतिशत अंक प्राप्त करना आवश्यक है।
  • अभ्यर्थी कम्प्यूटरीकृत आवेदन-पत्र (Computerized OMR Application Form) में दी गर्इ घोषणा (Declaration) पर विशेष ध्यान दें।

Click Here for UPCPMT Complete Information